Wednesday, July 29, 2009

एक पुराणी खबर

ये खबर है थोडी पुराणी, पर है आँखें खोलनेवाली | उलाल (मंगलौर, कर्णाटक) : पुलिस ने यहाँ एक चर्च के केला बगान को तहस-नहस करने के जुर्म मैं कुछ लोगों को गिरफ्तार किया | आप कहेंगे इसमें कौन सी नई बात है ? ये खबर थोडी रोचक है क्योंकि बागन मैं कई भगवा झंडा मिला है | अरे अब तो स्थिति बिलकुल साफ़ है, ये उग्रवादी हिन्दू संगठन की गन्दी करतूत है, क्यों? यहीं तो हम गच्चा खा जाते हैं | कभी कभी जो सामने दिखता है वो सच नहीं होता | पकडे गए लोगों का नाम बताता हूँ (आप समझ जायेंगे) :
१. जेसन वर्गिस (२३)
२. विनीत सन्नी रोजारियो (२१)
३. अराकी अल्फ्रेड (२०)
४. रोशन कटींनहो (२०)
(चरों नित्याधर नगर से )
५. रोनाल्ड रोशन (प्रकाश नगर)
.......
इस घटना को तब अंजाम दिया गया जब हिन्दू समाजोत्सव का कार्यक्रम चल रहा था | इस घटना की खबर कुछ समाचार पत्रों मैं छापी पर आधी अधूरी , सच से बिलकुल अलग | फोटो और विस्तार से घटना को पढने के लिए यहां क्लिक करें : http://www.daijiworld.com/news/news_disp.asp?n_id=57924

7 comments:

Babli said...

सच में आँखें खुल गई ! आपके पोस्ट के दौरान अच्छी जानकारी प्राप्त हुई!

ओम आर्य said...

sansani khej khabar.....our jankari rakhane ki aawashyakata lag rahi hai......dhanyabaad

हर्षवर्धन said...

सही है हमेशा जो दिखता है वो होता नहीं है।

रवि धवन said...

असल में सत्य पर आज इतनी
परत डाल दी हैं की झूठ ही हमें
सत्य दिखाई देने लगा है.

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

अपराधियों को सज़ा मिलनी ही चाहिए चाहे वे किसी भी धर्म के हों और चाहे उनका अपराध किसी भी धर्म का पालन करने वालों के विरूद्ध हो.

जगदीश त्रिपाठी said...

भाई। यह पहली घटना नहीं। ऐसी कई घटनाएं अतीत में हो चुकी हैं। लेकिन छद्म पंथ निरपेक्ष लोगों को जगाया नहीं जा सकता। क्योंकि वे सो नहीं रहे। सोने का नाटक कर रहे हैं।

दर्पण साह "दर्शन" said...

ye kewal india main hi possible hai dost....